ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद इस बात से इंकार नही किया जा सकता है कि अमेरिका में इस्लामोफोबिया का मामला बढ़ता ही जा रहा है.बड़ी बात यह है कि कई मुस्लिम महिलाओं ने हिंसा के डर से हिजाब पहनना छोड़ दिया है. दरअसल दुनिया मेंट्रंप की पहचान उनके मुस्लिम विरोधी रुख के तौर पर बन गई है.अब न्यूयॉर्क सिटी के अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि तीन मुस्लिम महिलाओं को पुलिस द्वारा हिजाब उतारने को मजबूर कर दिया था ताकि ऑफिसियल रिकॉर्ड के लिए फ़ोटो ले सके.

और कोर्ट ने इन्हें 180,000 डॉलर मुहैया कराने को आदेश दिया था. ब्रुकलिन संघीय अदालत में इस हफ्ते की शुरुआत में इस मुकदमे को अंतिम रूप देने के बाद प्रत्येक महिला को $ 60,000 देने का आदेश दिया था.उनमें से दो को 2015 में गिरफ्तार किया गया था और एक को 2012 में. ये सभी तीन घटनाएं ब्रुकलिन, न्यूयॉर्क के सबसे अधिक जनसंख्या वाले नगर में हुईं थी.

loading...

पुलिस द्वारा उनके धार्मिक अधिकारों का उल्लंघन किया है, संयुक्त राज्य अमेरिका में न्यूयॉर्क पुलिस विभाग पर यह सबसे बड़ा पुलिस बल पर मुकदमा था, जो शहर के कानून विभाग द्वारा प्रतिनिधित्व किया गया था.न्यू यॉर्क पुलिस ने तब से अपने दिशानिर्देशों को बदल दिया है ताकि बंदियों को एक धार्मिक मुद्दे पर हिजाब पहनने के लिए एक ही लिंग के एक पुलिस अधिकारी द्वारा व्यक्तिगत रूप से लिया गया फोटो लेने के विकल्प को कवर किया जा सके.अबोशी ने एएफपी को बताया, “यह सही दिशा में एक कदम है और यह गश्ती गाइड में अंतर को दूर करने के लिए एक सहयोगी प्रयास था.

loading...