इन दिनों कांग्रेस के बेहतर प्रदर्शन के साथ ही लगता है कि भाजपा के बुरे दिन शुरू हो गये हैं. बढ़ी बात यह है कि भाजपा अब अपने ही गढ़ में बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पा रही है.हाल ही में मध्य प्रदेश में मुंगावली सीट और कोलारस सीट पर विधानसभा का उपचुनाव आये उपचुनाव में भाजपा को मिली करारी शिकस्त के बाद अब पार्टी को एक और बड़ा झटका लगा है.अब मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने सनसनीखेज बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि चुनाव में हार का कारण यह है कि प्रदेश में हर वर्ग सरकार से नाराज है.

कोलारस एवं मुंगावली विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की हार का एक बड़ा कारण भी यह है. उन्होंने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि अब पार्टी में घुटन होती है.इसलिए उन्होंने अब भविष्य में चुनाव नहीं लडऩे का फैसला किया है. वहीं वर्तमान में प्रदेश की राजनीति और पार्टी के रवैये पर भी सवाल उठाए हैं.उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकार के प्रति नाराजगी बढ़ रही है. यही कारण है कि भाजपा चुनाव हारी है. पूर्व मंत्री के अनुसार अब पार्टी में भी उन्हें घुटन होने लगी है.

loading...

अपनी ही पार्टी पर कई आरोप लगाकर संन्यास लेने की घोषणा करने वाले सरताज सिंह ने कहा है कि भाजपा में माहौल ठीक नहीं रह गया है. उन्होंने यह भी कहा कि कुछ लोग मुझे कई सालों से हटाना चाहते हैं, मुझे मिटाने में लगे हुए हैं. उन्होंने चुनावी राजनीति से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है.बता दें कि जून 2016 में सरताज सिंह को उम्र का हवाला देकर (75 के फॉर्मूले) के तहत शिवराज कैबिनेट से बाहर किया था. तब से वे सरकार से नाराज चल रहे हैं. सरताज के साथ पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को भी कैबिनेट से बाहर किया था.

loading...